Home Janvani Bulletin पद्मवात पर शहर-शहर बवाल, अहमदाबाद में मॉल-सिनेमाघर में तोड़फोड़, आगजनी

पद्मवात पर शहर-शहर बवाल, अहमदाबाद में मॉल-सिनेमाघर में तोड़फोड़, आगजनी

449
0
SHARE

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मवात के विरोध में गुजरात के अहमदाबाद में आगजनी बड़ी घटना सामने आई है. यहां करणी सेना के सदस्यों ने एक मॉल में ही आग लगा दी. इस घटना पर करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र कालवी ने कहा कि तोड़फोड़ की घटनाएं नहीं होनी चाहिए. कालवी ने कहा, ‘सबको सन्मति दे भगवान.’

वहां मौजूद लोगों का कहना था कि हिमालयन मॉल में आगजनी करने वालों की भीड़ में करीब 2 हजार तक लोग शामिल थे.

बेकाबू भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को दो राउंड फायरिंग तक करनी पड़ी. आग की चपेट में मॉल और आसपास की दुकानें भी आ गईं.

बताया जा रहा है कि करीब डेढ़ घंटे तक करणी सेना के सदस्यों ने पूरा इलाका जाम करके रखा था.

करणी सेना के लोगों ने मॉल और इसके आस-पास की दुकानों के साथ ही वहां खड़े वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया. दर्जनों वाहन आग की चपेट में आ गए.

हिमालयन मॉल के मैनेजर राकेश मेहता ने कहा है कि उन्होंने मॉल के बाहर पहले ही एक बोर्ड में यह लिखकर टंगवा दिया था कि यहां पद्मावत फिल्म नहीं दिखाई जाएगी. उन्होंने कहा है कि इसके बावजूद मॉल को तबाह कर दिया गया.

मॉल के कार्निवल सिनेमा और इसके बाहर आगजनी करने के अलावा अहमदाबाद के थलतेज इलाके में भी पद्मावत के विरोध में एक्रो पोलिस मॉल में पथराव किया गया.

इस मॉल के बाहर भी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया.

इस घटना पर करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र कालवी ने कहा कि वह ऐसी हरकतों की आलोचना करते हैं. उन्होंने कहा है कि तोड़फोड़ की घटनाएं नहीं होनी चाहिए. कालवी ने कहा, ‘सबको सन्मति दे भगवान.’

बता दें फिल्म से बैन हटाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ मध्य प्रदेश और राजस्थान द्वारा दायर की गई पुनर्विचार याचिका को SC ने खारिज कर दिया है. कोर्ट ने फिल्म बैन से जुड़ी सभी याचिकाओं को खारिज किया है. कोर्ट ने कहा है कि हिंसक तत्वों को बढ़ावा नहीं दे सकते हैं, राज्य सरकारों को कानून व्यवस्था संभालनी होगी. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब फिल्म पूरे देश में अपनी तय तारीख 25 जनवरी को रिलीज होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here