Home Special तनु वेड्स मनु’ की तर्ज पर एक दुल्हन आैर दो दूल्हे, पढ़िए...

तनु वेड्स मनु’ की तर्ज पर एक दुल्हन आैर दो दूल्हे, पढ़िए ये फिल्मी लगने वाली असली खबर

110
0
SHARE
Janvani news

फिल्म ‘तनु वेड्स मनु’ में एक दुल्हन से शादी के लिए दो-दो दूल्हे तैयार थे। कुछ एेसा ही हुआ हमीरपुर के मौदहा क्षेत्र के मकरांव गांव में। जहां दो जगह से बारात आने की खबर मिलते ही लड़की के घर पर हड़कंप मच गया। लड़की का एक जगह रिश्ता कैंसिल होने के बाद दूसरे जगह शादी पक्की हुर्इ लेकिन शादी टूटने के बाद भी ये पक्ष बारात लाने की जिद पर अड़ गया आैर शादी के दिन बारात आने की धमकी देने लगा। इस मामले में पीड़ित पिता ने लाचार होकर पुलिस को सूचना दी।

मकरांव गांव के एक शख्स ने अपनी बेटी की शादी सुमेरपुर में तय की। सुमेरपुर कस्बे में कन्या पक्ष के लोगों ने भानुप्रताप सिंह के साथ तिलक आैर अन्य रस्में भी पूरी की। दोनों की शादी 2 जून को तय हुर्इ। हालांकि तिलक के बाद मामला बिगड़ गया।

बताया जा रहा है कि लड़की के पिता ने शादी से कुछ ही दिन पहले वर पक्ष के लोगों को ये खबर भिजवा दी कि वे अब उनके यहां पर अपनी बेटी की शादी नहीं करेंगे। शादी से इनकार के बाद भानुप्रताप सिंह आैर उनके परिवार के लोग भड़क गए आैर दोनों पक्षाें के बीच काफी विवाद हुआ।

भानुप्रताप के परिवार वालों ने कन्या पक्ष को तय समय पर बारात लाने की धमकी दे दी। जानकारी के मुताबिक इसी दौरान लड़की के पिता ने अपनी बेटी की शादी महोबा के खरेला थाना क्षेत्र के सिहोर गांव के भगवान सिंह से तय कर दी।

बताया जा रहा है कि सुमेरपुर के भानुप्रताप सिंह का आरोप है कि लड़की के पिता ने उनके घरवालों से 5 लाख रुपए की मांग की थी। जब उन्होंने पैसे देने से इनकार कर दिया तो लड़की के पिता ने बेटी की शादी दूसरी जगह पर तय कर दी।

उधर, लड़की वालों का कहना है कि एेन वक्त पर जब भानुप्रताप सिंह के परिवार वाले ज्यादा दहेज मांगने लगे तो उन्हें बेटी की शादी दूसरी जगह पर तय करनी पड़ी। उन्होंने आरोप लगाया कि भानुप्रताप के परिवार वालों ने डेढ़ लाख रुपए आैर एक बाइक की डिमांड की थी।

शादी के दिन महोबा से दिन में ही बारात आ गर्इ। किसी भी तरह के विवाद से बचने के लिए रस्मों को जल्द पूरा किया गया आैर दुल्हन को विदा कर दिया गया। लड़की के पिता की शिकायत पर पुलिस भी मौके पर पहुंची थी।

पुलिस ने किसी भी अनहोनी को रोकने के लिए फोन पर भानुप्रताप को समझाया। इस दौरान पुलिस इंस्पेक्टर एके सिंह ने लड़की को 1100 रुपए भी दिए आैर शांति से बारात को विदा कराया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here