Home Health सीताफल (Custard apple ) खाने के फायदे..

सीताफल (Custard apple ) खाने के फायदे..

आयुर्वेद की बात माने तो सीताफल ( #Custard_apple ) शरीर को शीतलता पहुंचाता है। यह पित्तशामक, तृषाशामक, उलटी बंद करने वाला, पौष्टिक, तृप्तिकर्ता, कफ एवं वीर्यवर्धक, मांस एवं रक्तवर्धक, बलवर्धक, वातदोषशामक एवं हृदय के लिए बहुत ही लाभदायी होता है।

229
0
SHARE
http://janvaninews.com
एसिडिटी और अल्सर में बहुत लाभकारी होता है

सीताफल ( Custard apple )  अगस्त से नवम्बर के आस-पास अर्थात् आश्विन से माघ मास के बीच आने वाला फल है। अगर आयुर्वेद की बात माने तो सीताफल शरीर को शीतलता पहुंचाता है। यह पित्तशामक, तृषाशामक, उलटी बंद करने वाला, पौष्टिक, तृप्तिकर्ता, कफ एवं वीर्यवर्धक, मांस एवं रक्तवर्धक, बलवर्धक, वातदोषशामक एवं हृदय के लिए बहुत ही लाभदायी होता है।

सीताफल न केवल एक अच्छा फल है बल्कि अपनी बहुत सारी खूबियों के साथ यह हमारी सेहत के लिए कमाल का होता है क्योंकि जानकर यह मानते है तो शरीर की कमजोरी के लिए दूर करने के लिए सीताफल एक बेहतर विकल्प हो सकता है और साथ ही यह आपकी immunity को भी बढाता है और आप अपनी immunity यानि के रोगप्रतिरोधक क्षमता को कैसे बढ़ा सकते है यह जानने के लिए आप यंहा क्लिक कर सकते है |

आईये सीताफल के गुणों के बारे में कुछ और जानते है –

  • सीताफल एक मीठा फल है जिसमे भरपूर मात्र में उर्जा होती है और साथ ही यह आपके शरीर की दुर्बलता को बड़ी आसानी से कम कर सकता है और आपके अंदर एक नई उर्जा और स्फूर्ति का संचार करता है |
  • सीताफल आसानी से पचने वाला फल होता है जो आपकी एसिडिटी और आपके अल्सर में बहुत लाभकारी होता है |
  • सीताफल में विटामिन सी और और आयरन बहुत अच्छी वाली मात्रा में होते है इसलिए यह आपके शरीर से आयरन और विटामिन की कमी को भी पूरा करता है |
  • सीताफल के बीज को भी आप कई तरीको से उपयोग में ले सकते है उनमे सबसे मजेदार है इन्हें भूनकर खाना और आप इन्हें कच्छा भी खा सकते है या फिर दूसरे बीजो के साथ मिक्स करके भी खा सकते है |
  • इसके बीज नट्स के साथ नाश्ते में एक बेहतरीन नाश्ता हो सकता है और एक पत्रिका के अनुसार दस ग्राम तक इसके बीज रोजाना लेने पर आपको प्रोस्टेंट से संबधित बिमारियों से निजात मिलती है |
  • सीताफल खाने से दिमाग शांत रहता है क्योंकि यह शीतल फलो में होता है इसलिए तनाव को कम करने में भी सीताफल एक अच्छा फल साबित हो सकता है |
  • दांतों के डॉक्टर मानते है और सलाह भी देते है कि इस फल के सेवन से दांतों की बीमारियों में मदद मिलती है और साथ ही उनमे होने वाला दर्द भी कम हो जाता है |
  • साथ ही इसमें कुछ मात्र में पोटेशियम और सोडियम भी होते है जो आपके ब्लड प्रेशर को संतुलित करते है और यह आपकी दिल की गति को सामान्य करने के साथ साथ आपकी घबराहट भी दूर करता है |

सीताफल के अन्य फायदे

गांठ का इलाज :

पके हुए सीताफल का गूदा कूटकर पोटली बांधने पर सांघातिक गांठ फूट जाते हैं।

गंजापन दूर करे:

इसके बीज को बकरी के दूध के साथ पीसकर लेप करने से सिर के उड़े हुए बाल शीघ्र ही उग आते हैं और मस्तिष्क में ठंढक पहुंचती है।

जूं का उपचार :

सीताफल के बीजों को महीन चूर्ण बनाकर पानी से लेप तैयार कर रात को सिर में लगाएं एवं सबेरे धो लें। दो तीन रात ऐसा करने से जुएं समाप्त हो जाती हैं। चूंकि बीज से निकलने वाला तेल विषला होता है, इसलिए बालों में इसका लेप लगाते समय आंख को बचाकर रखना चाहिये।

मजबूत हृदय के लिये:

जिनका हृदय कमजोर हो, हृदय का स्पंदन खूब ज्यादा हो, घबराहट होती हो, उच्च रक्तचाप हो ऐसे रोगियों के लिए भी सीताफल का सेवन लाभप्रद है।

शरीर का ताप कम करे:

वे लोग जिनका शरीर हर वक्‍त जलता रहता है और गर्म रहता है, उन्‍हें नियमित रूप से सीताफल का सेवन करना चाहिये।
त्‍वचा बनाए खूबसूरत :

शरीफा में विटामिन ए प्रचुर मात्रा में होता है जो त्वचा को स्वस्थ रखने में मददगार होता है। यह त्वचा पर आने वाले एजिंग के निशानों से भी बचाता है।
पेट के लिये:

इसमें घुलनशील रेशे होते हैं, जो कि पाचक्रिया के लिये बेहतरीन होते हैं।


आंख, बाल और त्‍वचा के लिये :

इसमे खूब सारा विटामिन ए होता है, जो कि हमारे बालों, आंखों और त्‍वचा के लिये बहुत ही फायदेमंद होता है।
डायरिया में लाभकारी:

जब फल कच्‍चा हो तब उसे काट कर सुखा दें और पीस कर रोगी को खिलाएं। इससे डायरिया की समस्‍या सही हो जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here